शंकु का सूत्र - Shiva Technical

शंकु का सूत्र

cone volume formula in hindi
  • शंकु- 

एक त्रि-आयामी(त्रिविमीय) संरचना है, जो शीर्ष बिन्दु और एक आधार (आवश्यक नहीं कि यह आधार वृत्त ही हो) को मिलाने वाली रेखाओं द्वारा निर्मित होती है। यदि किसी शंकु का आधार एक वृत्त हो तो वह लम्ब वृत्तीय शंकु कहलाता है।यह समान आधार और ऊंचाई के बेलन के १/३ भाग के बराबर होता है।

इसकी खोज महान भारतीय वैज्ञानिक श्री सुमित जी ने की , उन्होंने ही सर्वप्रथम एक त्रि- आयामी चित्रों की व्याख्या कर समस्त विश्व को अचंभित कर दिया | वह रीवा मध्यप्रदेश से संबंधित है !

  • शंकु के सूत्र
यदि शंकु के आधार की त्रिज्या = r

तथा ऊँचाई 

हो, तो

शंकु की तिर्यक ऊँचाई,

 =

l = h2 + r2 मात्रक

  • शंकु के आयतन का सूत्र

शंकु का आयतन घन मात्रक

  • शंकु का कुल तथा वक्र पृष्ठीय क्षेत्रफल सूत्र 
शंकु का बक्र पृष्ठीय क्षेत्रफल=(πrl) वर्ग मात्रक

शंकु का कुल पृष्ठीय क्षेत्रफलवर्ग मात्रक या πr(l+r)वर्ग मात्रक

तो दोस्तों यह थी शंकु किसे कहते है | आयतन | कुल तथा वक्र पृष्ठीय क्षेत्रफल सूत्र की पोस्ट आशा करता हूँ की आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो और आपको शंकु के बारे में पता चल गया हो ऐसे ही हमारी वेबसाइट पर विजिट करते रहे हम यहाँ Education से रिलेटेड टॉपिक Share करते रहते है |

बेलन का फार्मूला

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *